क्या है विराट कोहली-MS धोनी-रोहित शर्मा की कप्तानी में फर्क

नई दिल्ली। भारत के विकेटकीपर-बल्लेबाज पार्थिव पटेल का मानना है कि विराट कोहली जब राष्ट्रीय टीम की कप्तानी करते हैं तो वह आईपीएल टीम रॉयल चैलेंजर्स की कप्तानी करने की तुलना में ज्यादा आक्रामक रहते हैं। पटेल, दोनों टीम में कोहली के साथ खेल चुके हैं। उन्होंने कोहली की कप्तानी की तकनीक के बारे में बात की। पटेल ने आकाश चोपड़ा के शो आकाशवाणी पर कहा कि कई बार कप्तान का आक्रामक व्यवहार इस बात पर निर्भर करता है कि आपकी टीम में कैसे खिलाड़ी हैं। पार्थिव पटेल ने इस दौरान भारत के पूर्व कप्तान एमएस धोनी और मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा की कप्तानी में क्या फर्क है, इसको भी बताया है।

पहले विराट की बात करते हुए पार्थिव पटेल ने कहा कि बैंगलोर के लिए उनकी कोशिश रहती है कि टीम अपनी काबिलियत के हिसाब से खेले। साथ ही जहां टीम खेल रही है वो भी काफी मायने रखता है। अगर आपको विकेट से मदद नहीं मिल रही है तो आप डिफेंसिव हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि उदाहरण के लिए अगर हम किसी टीम को 180-190 तक सीमित कर देते हैं तो हम मैच जीतने की कोशिश कर सकते हैं, लेकिन अगर हम आक्रामक होकर 220 रन बनवा देते हैं तो हम मैच से बाहर हैं।

बाएं हाथ के बल्लेबाज ने कहा कि इसलिए मुझे लगता है कि कोहली भारत की कप्तानी करते समय बैंगलोर की कप्तानी की तुलना में ज्यादा आक्रामक रहते हैं। पटेल, कोहली के अलावा महेंद्र सिंह धोनी और रोहित शर्मा की कप्तानी में भी खेल चुके हैं। भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी पर बात करते हुए पार्थिव ने कहा कि वो जानते हैं कि खिलाड़ी की क्या काबिलियत है औ वह उसे बाहर निकालते हैं। वह उन्हें अपनी शैली में खेलने देते हैं, और खिलाड़ी को अपना खेल खेलने की जगह देते हैं।

रोहित को लेकर पटेल ने कहा कि रोहित बहुत अच्छे से रणनीति बनाते हैं। वह जानते हैं कि जो जानकारी उन्हें दी गई है उसका उपयोग कैसे करना है और किसी खिलाड़ी को कौन से रोल में उपयोग किया जा सकता है। वह इसके मास्टर हैं। बीते सालों में उन्होंने काफी सुधार किया है। मैन-मैनेजमेंट में धोनी और रोहित बेहद अच्छे हैं। बता दें कि रोहित शर्मा आईपीएल के सबसे सफल कप्तान हैं और उनकी कप्तानी में टीम ने चार बार खिताब पर कब्जा जमाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *