वीजा देकर कश्मीरी युवाओं को आतंक की ट्रेनिंग पर भेज रहा पाक

Spread the love

पाकिस्तान उच्चायोग (Pakistan High Commission) के अधिकारी न सिर्फ जासूसी गतिविधियों में शामिल होते हैं, बल्कि उनके संबंध आतंकी संगठनों (Terrorist organization) से भी हैं. एक खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान उच्चायोग कश्मीरी युवाओं को वीज़ा देकर आतंकवाद की ट्रेनिंग पर पाकिस्तान भेजता है. रिपोर्ट के अनुसार 2017 से अब तक जम्मू कश्मीर के 399 युवाओं को पाक उच्चायोग ने वीज़ा जारी कर पाकिस्तान भेजा. इनमें से 218 कश्मीरी युवाओं के बारे में कोई जानकारी नहीं है. खुफिया एजेंसियों को संदेह है कि इन कश्मीरी युवाओं को आतंकी ट्रेनिंग के लिए भेजा गया है.

मारे गए तीन कश्मीरी युवा वीज़ा पर गए थे पाकिस्तान

31 मार्च की रात को लश्कर के पांच आतंकियों ने जम्मू-कश्मीर के केरन सेक्टर में घुसपैठ की. यह आतंकी बड़ी संख्या में गोला बारूद लेकर जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमलों को अंजाम देने के लिए आए थे. इन आतंकियों ने पाक अधिकृत कश्मीर के दुधनियाल सेक्टर से घुसपैठ की. इन पांचों आतंकियों को 5 अप्रैल को सुरक्षाबलों ने मार गिराया. खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक इनमें से तीन आतंकी जम्मू-कश्मीर के नागरिक थे, जिनकी पहचान आदिल हुसैन मीर,  उमर नज़ीर खान और सज्जाद अहमद हुर्राह के तौर पर हुई. यह तीनों अप्रैल 2018 में पाक उच्चयोग से वीज़ा लेकर पाकिस्तान गए थे.

पुलवामा जैसे हमलों को अंजाम देने के लिए ट्रेनिंग दे रहा पाक

अंतरराष्ट्रीय मंच पर आतंकी देश का लेबल लगने के बाद अब पाकिस्तान कश्मीरी युवाओं को आतंक की फैक्ट्री में धकेलना चाहता है. ख़ुफ़िया एजेंसियों को मिली जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान कश्मीरी युवाओं के ज़रिए कश्मीर में पुलवामा जैसे आतंकी हमलों को अंजाम देना चाहता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *