अतिक्रमण को लेकर पार्षद और एमएलए आमने-सामने

नई दिल्ली ग्रेटर कैलाश एम-ब्लॉक मार्केट में अतिक्रमण का मामला अब धीरे-धीरे गरमाने लगा है। स्थानीय एमएलए सौरभ भारद्वाज और पार्षद शिखा राय में इस मुद्दे को लेकर मौके पर ही जोरदार बहस हो गई। एमएलए ने आरोप लगाया कि पार्षद की शह पर ही पूरे मार्केट में रेहड़ी-पटरी दुकानें लगाई हैं और सरकारी जमीन पर अतिक्रमण किया है। पुलिस भी इस मिलीभगत में शामिल है।

ग्रेटर कैलाश के एमएलए सौरभ भारद्वाज का कहना है कि बुधवार को कुछ स्थानीय लोगों ने शिकायत की कि एम-ब्लॉक मार्केट में प्रिंस पान भंडार के पास कोई गोलगप्पे और चाट की दुकान लगा रहा है। इसके लिए कई दिन पहले स्टॉल भी बनाए गए थे। लोगों की शिकायतों पर वह मौके पर पहुंचे और रेहड़ी लगाने वाले दुकानदार से पूछताछ की।

उसने बताया कि छत्तरपुर में उसकी स्वीट शॉप है। सीरी फोर्ट ऑडिटोरियम के पास भी वह 20 सालों से रेहड़ी लगाता है। उन्होंने एमसीडी में सत्तारूढ़ बीजेपी पार्षदों पर आरोप लगाया कि पूरे दिल्ली में पार्षद और पुलिस रेहड़ी-पटरी वालों को शह दे रहे हैं। इससे ही सड़कों और मार्केट में अतिक्रमण की भयंकर समस्या है।

इतने में ही मौके पर स्थानीय पार्षद शिखा राय भी पहुंच गईं। दोनों के बीच अतिक्रमण को लेकर जोरदार बहस हुई। एमएलए ने उनके सामने ही आरोप लगाया। इस मामले में शिखा राय का कहना है कि कोरोना संक्रमण के दौरान लोगों के रोजगार खत्म हो रहे हैं।

ऐसे में किसी गरीब व्यक्ति ने उनके पास रोजी-रोटी के लिए रेहड़ी लगाने का आग्रह किया, जिस पर उन्होंने मार्केट में कहीं रेहड़ी लगाने की बात कही। लेकिन, इससे यह नहीं कि हर जगह रेहड़ी वाले उनके कहने पर ही दुकानें लगाई हैं। किसी को इस पर ऐतराज है तो वह एमसीडी के साथ मिलकर अतिक्रमण को हटवा सकता है। इसमें उन्हें कोई ऐतराज नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *