हरियाणा में एक दिन में मिले कोरोना वायरस के 312 केस

चंडीगढ़.

हरियाणा में कोरोना से स्थिति खतरनाक होती जा रही है। एक माह पहले तक दो मरीजों को ही ऑक्सीजन की जरूरत पड़ी थी। इस वक्त 25 मरीजों की सांसें ऑक्सीजन और वेंटिलेटर के सहारे चल रही हैं। अब तक 31 मौतें हो चुकी है। लगातार 300 से ज्यादा केस हर दिन मिल रहें हैं। बिगड़ते हालातों के बाद सरकार ने इंतजाम बढ़ाने शुरू किए हैं। मरीजों को आइसोलेट करने के लिए अस्पतालों के अलावा मंदिर, गुरुद्वारे, धर्मशाला, स्कूल, यूनिवर्सिटी आदि में बेड की व्यवस्था की जा रही है।

प्रदेश में 34876 कुल आइसोलेशन बेड तैयार किए जा चुके हैं। जबकि 2103 आईसीयू बेड, 1051 वेंटिलेटर बेड और 7518 ऑक्सीजन सपोर्ट बेड अब तक सरकार के पास हैं। यानी सरकार के पास अभी ऑक्सीजन या उससे बाद की सुविधा के लिए 10672 मरीजों तक का इंतजाम है। सभी सीएमओ को भी अपनी-अपनी प्लानिंग बनाकर मुख्यालय भेजने के आदेश दिए गए हैं। अब कुल संक्रमितों का आंकड़ा 4014 पर पहुंच गया है। 71 लोगों के ठीक होने से अस्पतालों से डिस्चार्ज होने वालों की संख्या 1280 पर आ गई है।

यहां किए गए हैं मरीजों के लिए इंतजाम

सरकार ने 43 ऐसे कोविड अस्पताल में बनाए हैं, जिनमें सीरियस मरीजों को रखा जा सकता है। यहां 3397 आइसोलेशन बेड है। इनके अलावा 2164 ऑक्सीजन सपोर्ट के साथ, 602 आईसीयू बेडे और 263 वेंटीलेटर बेड तैयार किए हैं। यह अस्पताल मेडिकल कॉलेज, ईएसआई अस्पताल, झज्जर एम्स, रोहतक पीजीआई व शाह सतनाम अस्पताल सिरसा आदि शामिल हैं।

यहां मिले मरीज 
गुड़गांव में 129, फरीदाबाद में 39, सोनीपत में 45, रोहतक में 22, पलवल में 19, करनाल व यमुनानगर में 10-10, कैथल में 9, फतेहाबाद में 5, हिसार व अंबाला में 4-4, जींद, कुरुक्षेत्र व रेवाड़ी 2-2 और सिरसा में 1 केस मिला। सिरसा में 22, फरीदाबाद में 12, गुड़गांव में 11, सोनीपत में 6, रोहतक, करनाल व झज्जर में 4-4, जींद व कुरुक्षेत्र में 2-2 लोग ठीक हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *