हरियाणा सरकार पंचकूला में व्यापार व उद्योग को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा बजट सेशन में विशेष पैकेजं दे – बजरग गर्ग

समाचार क्यारी, राजेश कुमार:-  जनता के हित में व पंचकुला जिला के विकास के लिए हरियाणा बजट में पंचकुला में यूनिवर्सिटी बनाने का प्रस्ताव पास करना चाहिए – बजरंग गर्ग
हरियाणा विधानसभा सेशन में कश्मीर में धारा 370 हटाने का प्रस्ताव पास करके केंद्र सरकार को भेजा जाए – बजरंग गर्ग 
पंचकुला – हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष व हरियाणा कन्फेड के पूर्व चेयरमैन बजरंग गर्ग ने व्यापार प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि हरियाणा सरकार को अपने अंतरिम बजट में व्यापारी, उद्योगपति, किसान व आम जनता के हित को देखते हुए रियायत देनी चाहिए। सरकार को बजट में व्यापारियों की पेंशन योजना, व्यापारी जो टैक्स सरकार को जमा कराता है उसका 5 प्रतिशत कमीशन प्रोत्साहन के रूप में देने का प्रवधान बजट में बनाना चाहिए। व्यापारी की दुकान में जितना भी माल है उस माल का सरकार अपने खर्चे पर मुफ्त बीमा योजना लागू करना चाहिए। प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि देश में जीएसटी लागू होने के बाद मार्केट फीस (मंडी टैक्स) को बजट में समाप्त किया जाए। प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि पंचकूला पंजाब, हिमाचल व उत्तरांचल़ के साथ लगता राज्य है। जबकि पंचकूला जिला के व्यापारी पंचकूला में उद्योग ना लगाकर पड़ोसी राज्य में अपना उद्योग लगातार स्थापित कर रहे हैं। पंचकूला जिला में व्यापार व उद्योग को बढ़ावा देने के लिए व बेरोजगारों को रोजगार मिले इस के लिए जरूरी है कि सरकार पंचकूला में उद्योगों को विशेष रियायतें देनी चाहिए। इसके अलावा प्रदेश में व्यापार व उद्योग को बढ़ावा देने के लिए ज्यादा से ज्यादा सुविधा व रियायतें अंतरिम बजट में देनी चाहिए। प्रान्तीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने जनता के हित में व पंचकुला जिला के विकास के लिए हरियाणा बजट में पंचकुला में यूनिवर्सिटी बनाने का प्रस्ताव पास करना चाहिए। प्रान्तीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने यह भी कहा कि विधानसभा बजट सेशन में कश्मीर में धारा 370 हटाने का प्रस्ताव पास करके केंद्र सरकार को भेजा जाए। इस मौके पर व्यापार मंडल जिला युवा प्रधान बॉबी सिंह, अम्बाला प्रधान निरू वढ़ेरा, राकेश अग्रवाल, नरेन्द्र कुमार, ओम प्रकाश गोयल, कृष्ण गोयल, राम चरण सिंगला, कृष्ण गुप्ता, दर्शन बंसन, हरीश गर्ग, अनिल गोयल, प्रमोद डाबला, अंकुर गुलाठी आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *