कुंभ से आयी उन तमाम तरह- तरह की बेहतरीन तस्वीरों और जानकरियों को साझा कर रहा है: समाचार क्यारी.कॉम

प्रयागराज में इस समय दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक आयोजन कुंभ चल रहा है। कुंभ के दौरान प्रयागराज तंबुओं के शहर में बस जाता है, जहां पर लाखों-करोड़ों लोग एकत्रित होते हैं और संगम में आस्था की डुबकी लगाते हैं। करीब 50 दिनों तक चलने वाले इस मेले का समापन 4 मार्च को होगा।

 

समाचार क्यारी .कॉम प्रयागराज कुंभ से आयी उन तमाम तरह- तरह की बेहतरीन तस्वीरों और जानकरियों को साझा कर रहा है

1- कुंभ मेले को दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक और आध्यामिक मेला का खिताब मिला है जहां पर बिना बुलाए करोड़ों की संख्या में देश और विदेश से भक्त आते हैं।

2- कुंभ मेले के आयोजन के लिए संगम क्षेत्र में टेंट का अस्थाई शहर बसाया जाता है।

3- धार्मिक मान्यता के अनुसार कुंभ के दौरान संगम में स्नान करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है और मृत्यु के पश्चात देवलोक में स्थान मिलता है।

4- शाही स्नान पर मेला प्रशासन संगम तक अखाड़ों के लिए विशेष रास्तों का निर्माण किया जाता है। जिसमें केवल अखाड़ों के नागा साधु और संन्यासी ही चल सकते हैं।

 

7- कुंभ के एक साल पहले से आयोजन के लिए प्रशासन के सारे विभागों की अलग-अलग तैयारी और जिम्मेदारी तय हो जाती है।

8- कुंभ मेले का सफल आयोजन दुनिया के सबसे मुश्किल मैनेजमेंट में से एक है। यहां हर तरह की व्यवस्था चाक चौबंद मिलती है।

9- प्रयागराज की आबादी करीब 12 लाख है लेकिन कुंभ के दौरान इस शहर में एक दिन में करोड़ों की संख्या में लोग एकत्रित हो जाते हैं।

10- प्रयागराज कुंभ मेला यूनेस्को की मानवता की अमूर्त सांस्कृतिक विरासत की प्रतिनिधि सूची में शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *