राफेल के लिए बनने वाले एयरबेस में निर्माण पड़ा धीमा, फंड मिलने में हो रही देरी

अंबाला। इसी वर्ष सितंबर में दो राफेल विमान देश को मिल जाएंगे, लेकिन बजट की कमी के कारण इनके लिए अभी तक एयरफोर्स स्टेशन में इन्फ्रास्ट्रक्चर ही तैयार नहीं हो पाया है। अंबाला के साथ-साथ पश्चिम बंगाल के हाशिमारा एयरफोर्स स्टेशन पर भी बुनियादी ढांचे के लिए पहले चरण में अपग्रेडेशन का काम शुरू हो चुका है। काम कर रही कंपनियों को फंड मिलने में विलंब का असर निर्माण पर भी हो रहा है।

फ्रांस से समझौते के मुताबिक देश को 36 राफेल मिलेंगे। इनमें 18 अंबाला और 18 हाशिमारा एयरबेस पर रखे जाएंगे। पश्चिम बंगाल में स्थित हाशिमारा एयरबेस चीन और भूटान सीमा के करीब है। सन् 1919 में स्थापित अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पाकिस्तानी सीमा से करीब 220 किलोमीटर दूर है। यहां अभी दो स्क्वाड्रन तैनात हैं। पहला जगुआर कॉम्बैट और दूसरी मिग-21 बाइसन। मिग-21 कुछ ही वर्षों में बेड़े से बाहर हो जाएंगे। ऐसे में राफेल महत्वपूर्ण हो जाता है। इसकी तैनाती से पाकिस्तान पर भारत की रणनीतिक बढ़त रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *