मेरठ में मंगलवार शाम दो समुदाय के लोगों के बीच टकराव होने पर सांप्रदायिक तनाव,भाजपा कार्यकर्ता पर हमला

मेरठ शहर के अतिसंवेदनशील प्रह्लाद नगर में मंगलवार शाम दो समुदाय के लोगों के बीच टकराव होने पर सांप्रदायिक तनाव फैल गया। पीड़ित पक्ष भाजपा कार्यकर्ता का आरोप है कि दूसरे समुदाय के साजिद नाम के शख्स ने 1.50 लाख रुपये की रंगदारी न देने पर साथियों के साथ उस पर हमला बोला और फायरिंग की। सूचना पर फोर्स लेकर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने धार्मिक नारेबाजी कर रही भीड़ को लाठीचार्ज कर खदेड़ दिया। आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर भाजपाइयों ने थाना लिसाड़ी गेट में हंगामा काटा। पुलिस के अनुसार आरोपी साजिद के खिलाफ हमला करने और रंगदारी की धाराओं में केस दर्ज उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

पुलिस के अनुसार लिसाड़ी गेट थाना अंतर्गत प्रह्लाद नगर निवासी राहुल वैध उर्फ शांतनु पुत्र विनोद वैध भाजपा कार्यकर्ता हैं। राहुल शाम करीब 5:30 बजे कार से घर लौट रहे थे। रामलीला ग्राउंड के पास उनके घर से करीब 50 मीटर दूर रास्ते में साजिद निवासी मुहम्मदनगर कोतवाली की बुलेट बाइक खड़ी थी। बाइक न हटाने पर विवाद शुरू हुआ और मामला मारपीट तक पहुंचा। जिसमें राहुल और साजिद को चोटें आईं। मामले में सुलह हो गई थी। लेकिन आरोप है कि साजिद ने फोन कर आधा दर्जन युवकों को वहां बुला लिया और राहुल की पिटाई कर दी। जान से मारने की नीयत से राहुल पर फायरिंग कर दी। बीचबचाव में आए राहुल के दोस्त राजकुमार को भी चोट लगी।

भाजपाइयों में फैला आक्रोश

राहुल ने आरोप लगाया कि साजिद डेढ़ लाख रुपये की रंगदारी मांग रहा था। विरोध करने पर ही साजिद ने हमला किया है। आरोपी फायरिंग करते फरार हो गए। इसकी जानकारी लगने पर भाजपा नेता कमलदत्त शर्मा, वीनस शर्मा, जितेंद्र, अभिनव और संजय नारंग समेत कई कार्यकर्ता मौके पर पहुंचे। भाजपाइयों ने हंगामा कर प्रह्लाद नगर का बाजार बंद करा दिया। आरोपियों की गिरफ्तारी न होने पर हंगामा शुरू कर दिया। सूचना पर सीओ कोतवाली दिनेश शुक्ला, इंस्पेक्टर लिसाड़ी गेट समेत कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। करीब दो घंटे तक चले हंगामे के बाद साजिद और अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ रंगदारी मांगने, हमला करने और धमकी देने की धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया।

पुलिस ने संभाली स्थिति

दोनों समुदाय के लोगों में टकराव के हालात थे। एक तरफ से भाजपा कार्यकर्ता तो दूसरी तरफ से एक समिति के दूसरे समुदाय के कार्यकर्ता पहुंच गए थे। दोनों पक्षों के लोगों ने नारेबाजी कर माहौल गर्माने का प्रयास किया। लेकिन पुलिस अधिकारियों ने सूझबूझ का परिचय देकर दोनों पक्षों के लोगों को समझा बुझाकर स्थिति संभाली। तनाव को देखते हुए प्रह्लाद नगर में पुलिस बल तैनात कर दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *