पुलिस पब्लिक सद्भाव खेल प्रतियोगिता के फाइनल मैचों का गांव छारा में हुआ आयोजन

छारा, समाचार क्यारी, संजय शर्मा/रवि कुमार:-
पुलिस पब्लिक सद्भाव खेल प्रतियोगिता के फाइनल मैचो का  आयोजन बृहस्पतिवार को गांव छारा में किया गया । फाइनल मैचों के साथ ही पुलिस पब्लिक सद्भाव खेल प्रतियोगिता के प्रथम चरण का भी समापन हो गया । झज्जर पुलिस द्वारा अपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने व जिला में शांति एवं कानून व्यवस्था को सौहार्दपूर्ण बनाए रखने के उद्देश्य से जिला के 8 गांवों को गोद लिया गया था । एसपी श्री पंकज नैन आईपीएस द्वारा की गई अनूठी पहल पर जिला के 8 गांव दुबलधन ,छारा, बहु , बामनोली, भदानी , बिरोहड़ , लगरपुर तथा पाटोदा को खेलो व शैक्षणिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से गोद लिया गया था । गोद लिए गए गांवों में झज्जर पुलिस द्वारा युवाओं की ऊर्जा को सकारात्मक कार्यों में लगाने तथा युवाओं में छुपी खेल प्रतिभा को प्रदर्शित करने व निखारने के लिए ग्राम स्तर पर खेल प्रतियोगिताओ का आयोजन किया गया। युवाओं को शिक्षा एवं खेलों के प्रति प्रोत्साहित करने के साथ साथ गांव में आपसी सद्भाव व शांति व्यवस्था बनाये रखने के मध्येनजर गांव छारा सहित 8 गांवों को झज्जर पुलिस द्वारा गोद लिया गया था । बृहस्पतिवार को  गांव छारा में आयोजित प्रतियोगिता के फाइनल मैचों में मुख्य अतिथि के रूप में पहुचें पुलिस अधीक्षक श्री पंकज नैन ने सभी टीमों के खिलाड़ियों का परिचय लेकर उनका उत्साहवर्धन करते हुए खेल प्रतियोगिता के फाइनल मैचों का शुभारंभ करवाया । इससे पूर्व मुख्य अतिथि के तौर पर गांव छारा पहुंचने पर गांव के सरपंच जितेंद्र उर्फ बबलू ,गांव भदानी के सरपंच  सोमबीर , गांव लगरपुर के सरपंच  चांद सिंह तथा गांव बामनोली के सरपंच दीपक उर्फ माइकल व गांव छारा के अन्य मौजिज व्यक्तियों द्वारा स्वागत किया गया ।
               गौरतलब है कि पुलिस अधीक्षक श्री पंकज नैन द्वारा झज्जर पुलिस द्वारा अपनाए गए 8 गांवों में शिक्षा व खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने , युवाओं को सकारात्मक कार्यों के लिए प्रोत्साहित करने तथा युवाओं में छुपी खेल प्रतिभा को प्रदर्शित करने व निखारने के उद्देश्य से खेलों के आयोजन संबंधी दिशा निर्देश किए गए थे । पुलिस द्वारा अपनाए गए आठो गांव के युवाओं को खेलों के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए इन गांवों के युवाओं के बीच कबड्डी , वॉलीबाल व रस्साकशी आदि खेल प्रतियोगिताएं आयोजित की गई । गोद लिए गए आठों गांव की टीमों के बीच खेल प्रतियोगिता के तहत लीग मैचों का आयोजन किया गया । लीग मैचों में विजेता टीमों के बीच गांव दूबलधन व गांव बामनोली में सेमीफाइनल मैचों का आयोजन किया गया । सेमीफाइनल में कबड्डी के मैचो में गांव छारा व पाटोदा की टीमों ने फाइनल में स्थान बनाया । वहीं प्रतियोगिता में वालीबाल के मैचों में गांव दूबलधन व बामनोली की टीमें फाइनल में पहुंची । इसी प्रकार से रस्साकशी के फाइनल मैच के लिए गांव लगरपुर व छारा की टीमों ने अपना स्थान सुनिश्चित किया ।
             पुलिस अधीक्षक श्री पंकज नैन ने गांव छारा मे आयोजित खेल प्रतियोगिता के सफल आयोजन पर बधाई देते हुए कहा कि ऐसे आयोजनों से युवाओं में खेल के प्रति उत्साह बढ़ता है । ऐसे आयोजन भविष्य में भी होते रहने चाहिए । उन्होंने कहा कि झज्जर पुलिस ने सबसे पहले दुबलधन गांव को अपनाया था । जिसके सार्थक परिणाम सामने आए । खेलों के प्रति युवाओं को प्रोत्साहित करने के लिए जारी मुहिम के तहत जिला के 8 गांव को खेलों के लिए अपनाया गया था। युवाओं को अपराधिक गतिविधियों से दूर रखने तथा शिक्षा एवं खेल गतिविधियों के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए झज्जर पुलिस ने 8 गांवों को अपनाने का निर्णय लिया। उन्होंने बताया कि जल्द ही जिला के 8 अन्य गांव को भी खेल एवं शैक्षणिक गतिविधियों के लिए इस मुहिम में शामिल किया जाएगा । इस प्रकार से जिला के 16 गांव में जल्द ही लड़कों के साथ साथ लड़कियों की भी खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा । उन्होंने कहा कि आज गांव छारा में प्रतियोगिता के फाइनल मैच हुए । प्रतियोगिता में कबड्डी ,रस्साकशी तथा वालीबॉल तीनों खेलों में गोद लिए गए 8 गांव की टीमों ने सर्वोत्तम प्रदर्शन किया । गांव के युवाओं ने अपनी उर्जा को इधर उधर ना लगा कर खेलों में लगाया । जिसके सार्थक परिणाम भी सामने आए हैं । खेल के दौरान सभी टीमों के खिलाड़ियों ने खेल भावना का सर्वोत्तम प्रदर्शन किया । उन्होंने कहा कि इस पहल को आगे भी जारी रखा जाएगा । अब 8 की बजाय 16 गांव को गोद लेकर लड़कों के साथ साथ लड़कियों की खेल प्रतियोगिता भी आयोजित की जाएगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *