दोस्तों मम्मी-पापा का ख्याल रखना, मैं जा रहा हूं’ ग्रुप में मैसेज डाल छात्र सातवीं मंजिल से कूदा

गाजियाबाद जिले के साहिबाबाद के वैशाली सेक्टर-चार स्थित रतन ज्योति अपार्टमेंट की सातवीं मंजिल से कूदकर शनिवार दोपहर 12वीं कक्षा के छात्र ने सुसाइड कर लिया। सुसाइड से पूर्व छात्र ने मित्रों को व्हाट्सएप पर मम्मी-पापा का ख्याल रखने के लिए एक मैसेज डाला था।

मैसेज मिलने के बाद दोस्त और परिजन छात्र की तलाश करते हुए वैशाली पुलिस चौकी पहुंचे। इसपर उन्हें छात्र के सुसाइड करने की जानकारी हुई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस प्रेम प्रसंग के एंगल पर मामले की जांच कर रही है।

कृष्ण मुरारी किशोर वैशाली सेक्टर-चार में परिवार के साथ रहते हैं। वह दिल्ली एनसीआर के कई कॉलेजों में बतौर प्रोफेसर हैं। उनका बेटा अंश किशोर नोएडा सेक्टर-62 स्थित एक निजी स्कूल में 12वीं में पढ़ता था।

शनिवार दोपहर करीब डेढ़ बजे अंश वैशाली सेक्टर-चार स्थित रतन ज्योति अपार्टमेंट पहुंचा। सुरक्षा गार्डों ने उससे अंदर जाने की वजह पूछी, तो गोलमोल कर बिना रजिस्टर में एंट्री किए चला गया। अंश सोसायटी की लिफ्ट से सातवीं मंजिल पर पहुंचा।

पुलिस की मानें तो सातवीं मंजिल के कॉरिडोर से अंश ने छलांग लगा दी। अंश सोसायटी के मैनेजर के आफिस के पास गिरा। यह देख सुरक्षा गार्ड और अन्य लोग दौड़े। लोगों ने पुलिस को सूचना दी और अंश को पास के एक निजी अस्पताल में लेकर पहुंचे। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

सातवीं मंजिल पर अंश का बैग मिला। उसमें कुछ किताबें, दो सौ रुपये व अन्य सामान मिले। सीसीटीवी फुटेज में अंश लिफ्ट में जाते और लिफ्ट से बाहर निकलते हुए अकेले दिखाई दिया है।

एसपी सिटी ने बताया कि मृतक छात्र के दोस्तों के व्हाट्सएप ग्रुप पर भेजे गए मैसेज से सुसाइड की बात सामने आई है। छात्र के पिता ने आत्महत्या की तहरीर दी है। विभिन्न पहलुओं पर जांच की जा रही है। प्रेम – प्रसंग में सुसाइड करने की आशंका जताई जा रही है।

मम्मी पापा का रखना ख्याल

पुलिस की मानें तो अंश सुबह 10 बजे परिजनों से दोस्तों के साथ पढ़ाई करने के बात कहकर घर से निकला था। लेकिन वह दोस्त के पास नहीं पहुंचा। सुसाइड से पूर्व अंश ने व्हाट्सएप ग्रुप में एक मैसेज भेजा था जिसमें कहा थाकि  मम्मी-पापा बहुत अच्छे हैं।

दोस्तों उनका ख्याल रखना। मैं जा रहा हूं। मैसेज को देखकर दोस्तों ने कॉल की तो मोबाइल बंद था। परिजन और दोस्त वैशाली पुलिस चौकी पहुंचे तो पुलिसकर्मियों ने एक युवक का शव मिलने की बात कही। पुलिस परिजनों को अस्पताल ले गई, जहां पर परिजनों ने शव देखकर अंश की पहचान की। तीन घंटे बाद शव की शिनाख्त हो सकी।

मां-पिता का था इकलौता पुत्र
अंश माता-पिता का इकलौता बेटा था। घटना की जानकारी मिलते ही अस्पताल में रिश्तेदार और दोस्त पहुंच गए। सभी का रो-रोकर बुरा हाल है। शाम करीब साढ़े छह बजे पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पुलिस का कहना है कि अंश के पिता ने बेटे के सुसाइड की तहरीर दी है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि अंश का सोसायटी में रहने वाली एक युवती से उसका प्रेम प्रसंग चल रहा था। पुलिस इस दिशा में जांच कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *