दुष्यंत चौटाला का उकलाना हलके के गांवों का दौरा

दुष्यंत को सुनने उमड़ पड़े लोग, ग्रामीण ने दुष्यंत को बैठाया सिर आंखों पर
हिसार, समाचार क्यारी  मई। बढ़ते पारे के साथ आगे बढ़ता दुष्यंत की गाडिय़ों का काफिला, गांव के चौक-चौपाल पर गर्मी के बीचपलक पांवड़े बिछाए सैंकड़ों खड़े लोग, जैसे ही काफिला रूकता है वैसे ही जिंदाबाद के नारों से माहौल और गर्म हो जाता है। इसी बीच दुष्यंत चौटाला अपनी गाड़ी से निकल कर बुर्जुगों के पांव छूते हैं और उपस्थित लोगों का अभिवादन कर आगे बढऩे लगते हैं तो ग्रामीण दुष्यंत के गले में इतनी फूल मालाएं पहना देते हैं कि उनका चेहरा मालाओं में छिप जाता है। दुष्यंत मालाओं को उतार कर अपने साथ चल रहे व्यक्ति के हाथ में थमा देते हैं और फिर संबोधन के लिए थाम लेते हैं हाथ में माईक। कुछ ऐसा ही नजारा था आज उकलाना गांव के सरहेड़ा में जहां दुष्यंत चौटाला समर्थन मांगने पहुंचे थे।
अपने इन दौरों के दौरान दुष्यंत जहां कहीं भी गए वहां उन्हें सुनने और उनका स्वागत करने के लिए अपार जनसमूह उमड़ पड़ा। एक तरफ जहां क्षेत्र के युवा दुष्यंत की एक झलक पाने और उनसे रुबरु होने को बेताब नजर आ रहे थे तो वहीं दूसरी तरफ माताओं एवं बुजूर्गों द्वारा दुष्यंत को आर्शीवाद देने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा था।
कमोबेश कुछ ही माहौल देखने को मिला आज उकलाना हलके के अधिकांश गांवों में देखने को मिला। दुष्यंत चौटाला ने अपने भाषण में न केवल भाजपा को निशाने पर लिया बल्कि उन्होंने कांग्रेस को भी पानी-पीकर कोसा।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने दस साल के अपने शासनकाल में जनता को जम कर लूटा और घोटालों का रिकार्ड बनाया। भाजपा ने पांच साल तक झूठी बातों के झांसे में रखा और अब जब वायदों को पूरा करने का जवाब देने का वक्ता आया तो एक सुनियोजित ढंग से देश की जनता का ध्यान बांटने में पूरी ताकत झौंक दी जिससे कि जनता को उनके सवालों का जवाब न देना पड़ा।
क्षेत्रवासियों के इस स्नेह एवं समर्थन से प्रफुल्लित दुष्यंत ने आयोजित जनसभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि आप लोगों के इस स्नेह एवं आशीर्वाद को देख कर मंै यह निश्चित रुप से कह सकता हूं कि आप प्रदेश की राजनीति में एक ऐसा बदलाव लाने जा रहे हैं जो न केवल आप के क्षेत्र को विकास की बुलंदियों पर पहुंचाने का कार्य करेगा बल्कि आप और आप के बच्चों के सुनहरे भविष्य के निर्माण की ओर ले जाने का कार्य करेगा।
अपने पांच वर्ष के कार्यकाल की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अपने इस कार्यकाल के दौरान मेरा सदैव यह प्रयास रहा कि आप ने जिन आशाओं एवं उम्मीदों के साथ मुझे अपना प्रतिनिधि चुन कर संसद में भेजने का कार्य किया है उन आशाओं एवं उम्मीदों पर मै खरा उतरुं। इन पांच वर्षों के दौरान मैने क्षेत्र की समस्याओं के समाधान के लिए सड़क से लेकर संसद तक आवाज उठाने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी। जब कभी भी देश एवं प्रदेश में सत्तारुढ़ भाजपा सरकार द्वारा कोई जनिवरोधी निर्णय लिया गया तब-तब आप के हितों का रक्षक होने के दायित्व का निर्वहन करते हुए मैने ऐसे जनिवरोधी निर्णयों का जोरदार विरोध किया और सरकार को अपना निर्णय बदलने को मजबूर कर दिया। क्षेत्र के विकास और क्षेत्रवासियों के हितो की पूर्ति के लिए मैने न केवल अपनी सांसद निधि का पूर्ण सदुपयोग किया बल्कि पूर्व सांसदों के कार्यकाल के दौरान शेष राशि को भी मंगवा कर विकास कार्यों पर खर्च करने का कार्य किया। अपने इस कार्यकाल के दौरान मै सदैव आप लोगों के बीच रह कर आप के सुख-दुख में शामिल होता रहा। चाहे वो संसद में उपस्थिति का मामला हो या फिर क्षेत्र में उपिस्थित का मै सदैव हाजिर रहा। यही कारण है कि एक तरफ जहां भाजपा एवं कांग्रेस के प्रत्याशी नरेन्द्र मोदी एवं भजन लाल के नाम पर वोट मांगते फिर रहे हैं वहीं दूसरी ओर मै अपने काम की बदौलत आप से वोट मांग रहा हूँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *