करनाल के कस्बा तरावडी जिला करनाल में नव निर्मित थाना के भवन का लोकापर्ण किया

Spread the love
करनाल ( कर्मबीर पन्नु)  करनाल के कस्बा तरावडी जिला करनाल में नव निर्मित थाना के भवन का श्री नवदीप सिंह विर्क भा.पु.से ए.डी.जी.पी करनाल रेंज करनाल व निलोखेडी विधायक श्री भगवानदास कबीर पंथी द्वारा लोकापर्ण किया गया। इस अवसर पर हरियाणा पुलिस हाउस कार्पोरेषन अधीक्षक अभियंता के.एन. भटट द्वारा पुष्पगुच्छ देकर श्री विर्क, श्री कबीरपंथी और पुलिस कप्तान का स्वागत किया गया।
श्री विर्क द्वारा जनता से रूबरू होते हुए कहा गया कि इस थाने की बिल्डिंग मंाग काफी लम्भे समय से चली आ रही थी इससे पहले तरावडी थाना शहर तंग गलियों व शहर के पिछले इलाके मे था जिसको तलाषने में जरूरतमंद को काफी मषक्कत का सामना करना पडता था और थाना का भवन काफी जरजर हालात में था। शहरवासीयों की जरूरत को देखते हुए हरियाणा सरकार द्वारा हरियाणा पुलिस हाउसिंग कार्पोरेषन को थाना के लिए नए भवन के निर्माण की जिम्मेवारी सौंपी गई थी, जो हरियाणा पुलिस हाउसिंग कार्पोरेषन द्वारा तय समय अवधि (13 महीने) में इस सुंदर भवन का निर्माण किया गया है। जिसके लोकार्पण का सौभाग्य मुझे प्राप्त हुआ है और यह थाना राष्ट्ीय राजमार्ग से कुछ दूरी पर, सुगम रास्ते पर है। जहां से जरूरत पड़ने पर आमजन को जल्दी व समय पर पुलिस सहायता पहुंचाई जा सकती है।
     निलोखेड़ी के विधायक श्री भगवानदास कबीरपंथी ने जनता को संबंधीत करते हुए कहा कि माननीय मुख्यमंत्री हरियाणा द्वारा वर्ष-2017 में कस्बा तरावड़ी में थाने के लिए नया भवन बनाने के घोषणा की गई थी, जो यह सुंदर भवन आज 13 माह की अवधी के बाद बनकर तैयार हो चुका है और मुझे भी श्री विर्क ए.डी.जी.पी. करनाल रेंज करनाल के साथ इस भवन के उदघाटन का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि वर्तमान हरियाणा सरकार द्वारा पुलिस की कार्यषैली में काफी बदलाव का कार्य किया गया है, जिससे पुलिस विभाग के रवैया में काफी बदलाव दिखाई दे रहा है। वर्तमान सरकार द्वारा महिलाओं की सुरक्षा के लिए जिला स्तर पर महिला थाना खोले गए हैं व पुलिस विभाग को आनलाईन करना भी सरकार की प्राथमिकता रही है, ताकि दैनिक जीवन में पुलिस की आवष्यकता पड़ने वाले कार्यों का आनलाईन घर बैठे लाभ उठा सकें। श्री कबीरपंथी ने कहा कि पुलिस को समाज के लिए ओर संवेदी बनाने का प्रयास जारी है, जिससे लोगों को अहसास हो कि पुलिस उनकी सुरक्षा के लिए है और उनमें परस्पर मैत्रीक भावनाओं का उत्सर्जन हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.