अमेरिकी बच्चों में कोरोना का नया सिंड्रोम कावासाकी दिखा

कोरोना महामारी की शुरुआत के बाद से बच्चों में बड़ों की तरह सांस संबंधी परेशानी नहीं देखी गई थी। लेकिन बीते कुछ हफ्तों में न्यूयॉर्क सिटी, लॉन्ग आईलैंड और दूसरे हॉटस्पॉट इलाकों में बच्चों में अलग तरह का सिंड्रोम देखा जा रहा है। आशंका जताई जा रही है कि बच्चों को उम्मीद से ज्यादा खतरा हो सकता है। इसके लक्षणों को बच्चों में पाई जाने वाली एक दुर्लभ बीमारी कावासाकी से जोड़कर देखा जा रहा है। इस बीमारी में ब्लड वेसल्स में सूजन आ जाती है, खासकर कोरोनरी आर्ट्रीज में।

बीते दो दिन में कोहेन चिल्ड्रन्स मेडिकिल सेंटर में पांच गंभीर रूप से बीमार मरीज भर्ती किए गए हैं। इन सभी की उम्र 4 से 12 के बीच थी। इन मरीजों में एक असामान्य बीमारी देखी गई, जो कहीं न कहीं कोरोना से होने वाली बीमारी कोविड 19 से जुड़ी थी। ऐसी ही बीमारी से ग्रस्त और लाल जीभ और बड़ी हुई कोरोना आर्ट्रीज से जूझ रहे कुल 25 बच्चे भर्ती कराए गए हैं। अमेरिका में बच्चों में यह नया सिंड्रोम नजर आ रहा है, जो पहले यूरोप में पिछले महीने पाया गया था। हालांकि इस बीमारी से अब तक किसी मौत की जानकारी नहीं है।

जानकारी जुटाने की कोशिश कर रहे हैं डॉक्टर्स
अमेरिका में इस बीमारी से कुल मरीजों का आंकड़ा सामने नहीं आया है। डॉक्टर्स इसे पीडियाट्रिक मल्टीसिस्टम इंफ्लेमेट्री सिंड्रोम बता रहे हैं। कोहेन चिल्ड्रन्स मेडिकिल सेंटर के डॉक्टर जेम्स श्नाइडर ने एक इंटरव्यू में बताया कि यह बीमारी दो हफ्तों से साफ है, इसलिए हम इसे जानने की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि डॉक्टर्स को नहीं लगता कि, यह हालत फेफड़ों पर असर करने वाले वायरस से आई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *