अभय चौटाला की जगह विधानसभा में बैठेंगी किरण चौधरी

समाचार क्यारी ,हिमांशु शर्मा:-

हरियाणा में विधानसभा सत्र दौरान इस बार संख्या बल के आधार पर कांग्रेस विधायक वहां बैठेंगे जहां इनैलो नेता बैठते थे। नेता प्रतिपक्ष पद संख्या के आधार पर पहले इनैलो के पास था तथा अभय सिंह चौटाला इस महत्वपूर्ण पद पर थे लेकिन अब उनकी जगह संख्या में अधिक होने पर कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी बैठेंगी। कांग्रेस विधायकों ने अभी तक सर्वसम्मति से नेता प्रतिपक्ष के नाम पर सहमति पत्र स्पीकर को नहीं लिखा है अगर कांग्रेस ने नेता प्रतिपक्ष के लिए किसी का नाम नहीं दिया तो यह दर्जा किसी को भी मिलना मुश्किल है।

ऐसी स्थिति में किरण चौधरी को नेता प्रतिपक्ष का दर्जा नहीं मिलेगा और न ही सुविधाएं मिलेंगी, केवल कांग्रेस विधायक दल की नेता के नाते अभय चौटाला जहां बैठते थे वह जगह ही मिलेगी।

कुर्सी के लिए और बढ़ सकती है कांग्रेस की गुटबाजी 
कांग्रेस की तरफ से नेता प्रतिपक्ष का चेहरा कौन होगा,इस पर सस्पैंस बरकरार है। इनैलो विधायकों के दलबदल से अभय चौटाला से छिनी नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी के घटनाक्रम के बाद कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी ने भले ही स्पीकर को पत्र लिख दावा ठोक दिया हो मगर लोकसभा चुनावों के परिणाम आने के बाद कांग्रेस हरियाणा प्रभारी गुलाम नबी आजाद द्वारा बुलाई बैठकों में भी नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी पर कौन बैठे पर चर्चा तक न हो पाना अटपटा लगता है। स्पीकर कंवर पाल गुर्जर ने भी कांग्रेस के विधायकों की लिखित सहमति किरण चौधरी से मांगी है।

कांग्रेस विधायकों का बहुमत पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा के साथ है। अक्तूबर तक के लिए मिलने वाली नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी हेतु कांग्रेस की गुटबाजी और बढ़ सकती है क्योंकि हुड्डा समर्थक नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी हुड्डा को दिलवाने पर स्टैंड ले सकते हैं। सूत्रों का कहना है कि हुड्डा नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी के लिए दो कांग्रेसी विधायकों कर्ण दलाल या गीता भुक्कल के नामों का प्रस्ताव रख सकते हैं। चर्चा है कि प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर हुड्डा गुट के राजनीतिक तीर को देख रणदीप सुुर्जेवाला का नाम उछाल सकते हैं। वहीं राजनीतिक गलियारों में जारी चर्चा अनुसार जातीय समीकरणों व गैर जाटों को साधने हेतु कांग्रेस आलाकमान कुलदीप बिश्नोई की तरफ भी झुकाव दिखा सकती है।

ऐसी चर्चाओं को देख किरण चौधरी की नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी पर दावा कमजोर हो सकता है। विधानसभा स्पीकर कंवरपाल गुज्जर ने अपने बयान में कहा कि कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी की नेता प्रतिपक्ष पद के लिए चिट्टी आई है। उन्होंने खुद के लिए दावेदारी जताई है। चि_ी पर विधायकों के हस्ताक्षर नहीं हैं जिसके जवाब में उन्होंने कांग्रेस विधायकों की सहमति का लिखित पत्र मांगा है। उनके इस बयान से कांग्रेस का क्या रुख रहेगा फिलहाल यह भविष्य के गर्भ में है मगर यह जरूर कहा जा सकता है कि शायद पार्टी के अंदरूनी हालात को भांपते हुए उन्होंने यह नया बयान दिया है।

नेता प्रतिपक्ष पद के लिए कई दिग्गज पेश कर रहे हैं दावेदारी
हरियाणा में नेता प्रतिपक्ष का पद कांग्रेस के लिए मुसीबत बनता जा रहा है। एक पद के लिए कांग्रेस के कई दिग्गज नेता दावेदारी पेश कर रहे हैं। विधायक किरण चौधरी ने दावेदारी कर दी है तो सूत्रों अनुसार पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने भी कमर कस ली है। नेता प्रतिपक्ष के पद के लिए कांग्रेस में कई गुट हो गए हैं। हर कोई इस पद के लिए दावेदारी कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *