सबसे बड़ा दान गौ माता का होता है : नीलम कृष्ण पहलवान ।

Spread the love
समाचार क्यारी,   दिल्ली, (राजेश कुमार): – नजफगढ़ की 126 वर्ष पुरानी गौशाला में आयोजित वार्षिक कार्यक्रम में दिचाऊ कला वार्ड से पार्षद नीलम कृष्ण पहलवान दिचाऊ गांव की सरदारी के साथ
 पहुंची। गौशाला नजफगढ़ में पहुंचने पर उनका जोरदार स्वागत किया गया। इस दौरान विभिन्न गांव के प्रतिनिधि भी पहुंचे हुए थे। इस मौके पर नीलम कृष्ण पहलवान ने कहा कि सबसे बड़ा दान गौ माता  का माना जाता है। 33 करोड़ देवी देवताओं का निवास गऊ माता  में होता है। गाय के सिर पर हाथ फेरने से ब्लड प्रेशर की बीमारी तो दूर होती ही है साथ ही दिमाग की टेंशन भी दूर हो जाती है। उन्होंने कहा कि वह स्व. भरत सिंह की जगह कभी नहीं ले सकती लेकिन हमारा परिवार हमेशा ही  आप लोगों के साथ  तन मन धन से चौबीस घंटे  खड़ा है। इस दौरान गौशाला कमेटी सदस्यों  द्वारा नीलम कृष्ण पहलवान को स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित भी किया गया। उन्होंने कमेटी को एक लाख रुपए का दान दिया।
इस अवसर पर गौशाला नजफगढ़ के प्रधान पहलवान बलजीत सिंह समसपुर ,तेजवीर पहलवान, नफे सिंह नंबरदार, सुरेंद्र मटियाला, अजीत सिंह फौजी ,संजय गिरधर ,अमरजीत सिंह चेयरमैन कैर , जोगेन्दर मान सहित नजफगढ़ गौशाला के सम्मानित सदस्य व गणमान्य जन उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *