बिजली निगम की लापरवाही पर रोहद के कपिल को 4.50 लाख रूपए की राहत

Spread the love
सामाजिक न्याय मंत्री ओमप्रकाश यादव ने परिवादी के प्रति दिखाई सहानुभूति
– बिजली निगम के संबंधित एक्सईएन द्वारा रिपोर्ट सही न देने पर कार्रवाई करने के आदेश
– झज्जर में जिला लोक संपर्क एवं परिवेदना समिति की बैठक लेने पहुंचे मंत्री ओमप्रकाश यादव
झज्जर समाचार क्यारी, संजय शर्मा/ रवि कुमार:-। हरियाणा के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ओमप्रकाश यादव ने गांव रोहद के युवक कपिल को बिजली कर्मियों की लापरवाही के कारण हुई शारीरिक हानि पर राहत पहुंचाते हुए उसके इलाज का खर्च साढ़े चार लाख रूपए सरकार की ओर से वहन करने की घोषणा की। साथ ही बिजली निगम के संबंधित अधिकारी पर कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए।
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री सोमवार को झज्जर संवाद भवन में जिला लोक संपर्क एवं परिवेदना समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए परिवादों की सुनवाई कर रहे थे। परिवेदना समिति की बैठक में कुल 12 परिवाद रखे गए जिनमें से अधिकांश परिवादों का मौके पर ही निपटारा कर दिया गया। झज्जर पहुंचने पर जिला प्रशासन की ओर से उपायुक्त जितेंद्र दहिया ने स्वागत किया और जिले की गतिविधियों से अवगत कराया।
परिवेदना समिति की बैठक में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री यादव ने गांव रोहद निवासी कपिल पुत्र अनार सिंह के बिजली निगम परिमंडल रोहतक के मामले की सुनवाई करते हुए निगम के संबंधित एक्सईएन द्वारा लापरवाही बरतने वाले दोषी कर्मियों के नाम पुलिस को न देने पर ठोस कार्रवाई करने के आदेश दिए। वहीं पीडि़त युवक कपिल की शारीरिक हानि होने पर उन्होंने उसके इलाज का खर्च साढ़े चार लाख रूपए सहायता स्वरूप सरकार के माध्यम से करवाने की घोषणा की। उन्होंने इस मामले में पुलिस अधीक्षक को गंभीरता से कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए ताकि परिवादी के साथ न्याय हो सके।
बैठक में पुलिस विभाग, एडीसी कार्यालय, एसडीएम कार्यालय बादली, एनटीपीसी झाड़ली, मार्केटिंग बोर्ड, एसडीएम कार्यालय बेरी, एसडीएम कार्यालय झज्जर, बिजली वितरण निगम, जिला समाज कल्याण अधिकारी सहित अन्य विभागों से संबंधित परिवादों की सुनवाई की गई। परिवेदना समिति की बैठक में अन्य शिकायतों को भी सुना गया और मौके पर ही संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
बैठक में गैर हाजिर अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस :
जिला लोक संपर्क एवं परिवेदना समिति की बैठक में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ओमप्रकाश यादव के समक्ष राज्य परिवहन झज्जर डिपो से तथा महिला एवं बाल विकास विभाग कार्यालय से संबंधित शिकायतें सामने आई तो मौके पर संबंधित विभागाध्यक्ष गैर हाजिर मिले। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने तुरंत प्रभाव से उपायुक्त को महाप्रबंधक राज्य परिवहन झज्जर डिपो तथा जिला कार्यक्रम अधिकारी, महिला एवं बाल विकास विभाग झज्जर को बैठक में गैर हाजिर पाए जाने पर कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने बैठक में स्पष्टï किया कि अधिकारियों के माध्यम से सरकार की जनहितकारी नीतियों को आमजन तक पहुंचाया जाता है और ऐसे में यदि अधिकारी मामले को गंभीरता से न लें और लापरवाही बरतते हैं तो सरकार की ओर से कड़ा संज्ञान इस विषय में लिया जाएगा।
ये रहे मौजूद :
बैठक में एसएसपी अशोक कुमार, एडीसी उत्तम सिंह, एसडीएम बेरी डा.राहुल नरवाल, एसडीएम झज्जर शिखा, सीटीएम रविंद्र कुमार, एसई जनस्वास्थ्य विभाग जगबीर मलिक, सिंचाई विभाग के एसई आर.के.सौलखा व एसई बिजली संदीप जैन, महिला एवं बाल विकास निगम की चेयरपर्सन सुनीता चौहान, भाजपा जिलाध्यक्ष बिजेंद्र दलाल, मार्केट कमेटी बेरी के चेयरमैन मनीष शर्मा, जिला महामंत्री अनिल शर्मा, सीमा दहिया, कमलेश अत्री, अशोक गुप्ता सहित समिति के गैर सरकारी सदस्य व अधिकारीगण मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *