बाल कानूनी सेवा की जानकारी बेहद जरूरी : अंकिता

Spread the love
बहादुरगढ़, समाचार क्यारी सुनील कुमार /हिमांशु:- बच्चों के अनुकूल बाल कानूनी सेवाओं और उनकी सुरक्षा को लेकर गांव दुल्हेड़ा के राजकीय कन्या वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय प्रांगण में कानूनी साक्षरता शिविर का आयोजन हुआ। शिविर में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव एवं सीजेएम अंकिता शर्मा ने छात्राओं को कानूनी जागरूकता की जानकारी देते हुए जागरूक किया। राजकीय कन्या वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय की प्राचार्या कृष्णा छिक्कारा ने मुख्यातिथि श्रीमती शर्मा का स्वागत करते हुए छात्राओं के लिए लगाए गए जागरूकता शिविर पर आभार व्यक्त किया।
 स्कूल प्रांगण में लगे जागरूकता शिविर में डालसा सचिव एवं सीजेएम अंकिता शर्मा ने छात्राओं को उनके अधिकारों के प्रत प्रेरित किया। उन्होंने बताया कि जिला एवं सत्र न्यायाधीश कमल कांत के मार्गदर्शन में झज्जर जिला के विद्यालयों में जागरूकता मुहिम चलाई जा रही है। उन्होंने छात्राओं को एनएएलएसए (बच्चों के अनुकूल बाल कानूनी सेवाओं और उनकी सुरक्षा)योजना, 2015 के तहत उनके अधिकारों के बारे में अवगत कराया। साथ ही उन्होंने छात्राओं को कानूनी रूप से सजग करते हुए अनुच्छेद 14, 15 (3), 21, 21 ए, 23 (1), 24, 29 की विस्तार से जानकारी दी। सचिव ने बाल श्रम (निषेध और विनियमन) अधिनियम, पीएनडीटी (विनियमन और दुरुपयोग की रोकथाम) अधिनियम, बाल विवाह निषेध अधिनियम और बच्चों के शिक्षा और शिक्षा के अधिकार अधिनियम के बारे में जागरूक किया गया। शिविर में जिला बाल संरक्षण अधिकारी लतिका और सामाजिक कार्यकर्ता स्नेह लता ने भी शिविर में छात्राओं को जागृत किया।
शिविर में कक्षा 9वीं से 12वीं तक के करीब 150 विद्यार्थियों को बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना, सुकन्या समृद्धि योजना, माध्यमिक शिक्षा के लिए लड़कियों को प्रोत्साहन की राष्ट्रीय योजना और लाडली योजना के बारे में भी बताया गया। जिला बाल संरक्षण अधिकारी लतिका ने यौन अपराधों से संबंधित बच्चों के अधिकारों के बारे में बताया। स्नेहलता ने दहेज निषेध और घरेलू हिंसा के बारे में बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *