पिछले 2 सालों में किसानो की माली हालत में हुआ सुधार : योगी

Spread the love
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसानों के प्रति अपनी सरकार के समर्पण का इजहार करते हुये कहा कि मजबूत राजनीतिक इच्छाशक्ति के चलते अन्नदाता की माली हालत सुधरी है और खाद्यान्न के उत्पादन में रिकार्ड बढोत्तरी हुयी है।
श्री योगी ने सोमवार को लोकभवन में आयोजित किसान पाठशाला का शुभारंभ करते हुये कहा कि पिछले दो सालों में उनकी सरकार के कार्यकाल में किसानो की स्थिति में बड़े सुधार आया है। जो किसान उपेक्षा के चलते प्रदेश से पलायन करने को मजबूर था वो आज रिकॉर्ड उत्पादन कर रहा है।
उन्होने कहा कि इससे पहले राजनीतिक उपेक्षा के शिकार किसान आत्महत्या करने को मजबूर थे। केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं का लाभ किसान तक नहीं पहुंचता था लेकिन पिछले दो वर्षों में यहां के किसानों ने रिकॉर्ड खाद्यान्न को प्राप्त किया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि 2017 में प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद किसान हमारे एजेंडे में था जिसके लिये दो करोड़ 33 लाख किसानों के डाटा बैंक को तैयार करने और केंद, की योजनाओं को लागू करने का कार्यक्रम तैयार किया गया। किसानों से जुड़ समस्याओं की मॉनिटरिंग वह प्रतिदिन खुद ही करते हैं। आज प्रदेश में छह हजार से अधिक जगहों पर गेंहू क्रय केंद्र संचालित हो रहे हैं।
श्री योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि में एक करोड़ तीन लाख किसानों को 2-2 हजार की किश्त मिली है जबकि बचे हुये किसानो का जल्द ही इस योजना का लाभ मिलेगा। 2011 से 2017 तक गन्ना किसानों का बकाया था। पिछली दो सरकारों को देखेंगे तो 50 हजार करोड़ बमुश्किल बकाया दिया लेकिन उनकी सरकार ने दो सालों में 68 हजार करोड़ से ज्यादा बकाया का भुगतान कराया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *