प्रदूषण नियंत्रण : फसल अवशेष जलाने वालों की डीसी ने मांगी नियमित रिपोर्ट 

Spread the love
झज्जर, समाचार क्यारी,  संजय शर्मा /रवी कुमार :-उपायुक्त संजय जून ने रबी सीजन की फसलों की कटाई के उपरांत खेतों में फसल अवशेषों को जलाने की घटनाओं की रोकथाम के लिए आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए है। प्रदूषण नियंत्रण व फसल अवशेष जलाने की घटनाओं की रोकथाम के लिए गठित उपमंडल व ग्राम स्तरीय समिति इस मामले में आवश्यक कार्रवाई करेंगी। उन्होंने मंगलवार को यह निर्देश राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) द्वारा जिला में प्रदूषण नियंत्रण के उपायों को लेकर गठित प्रशासनिक समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए दिए।
उपायुक्त ने कहा कि फसल अवशेष जलाने से पर्यावरण को पहुंचने वाले नुकसान के बारे में समय-समय पर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इसके बावजूद अनेक स्थानों पर फसल अवशेष जलाने के मामले सामने आए है। फसल अवशेष जलाने वालों के खिलाफ चालान की कार्रवाई होनी चाहिए। ग्राम व उपमंडल स्तरीय समिति ऐसी घटनाओं की नियमित रिपोर्ट करें ताकि भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृति न हो। यह समितियां इन घटनाओं की फोटो सहित रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगी।
बैठक के दौरान उपायुक्त ने एनजीटी के प्रदूषण नियंत्रण मानकों की समीक्षा करते हुए कहा कि जिस भी विभाग का जो कार्य निर्धारित किया गया है उसकी एक्शन टेकन रिपोर्ट (एटीआर) तुरंत उपलब्ध कराए। उन्होंने स्थानीय निकाय विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि खुले में कूड़ा डालने वालों व कूड़ा जलाने वालों के अधिक से अधिक चालान किए जाए। उन्होंने राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण की ओर से प्रदूषण नियंत्रण के लिए पूर्व में दिए गए सुझावों पर विभागवार की गई कार्रवाई की जानकारी भी ली तथा आगामी कार्रवाई को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए।
इस अवसर पर एसडीएम बादली जगनिवास, एसडीएम बहादुरगढ़ तरूण पावरिया, क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण कृष्ण कुमार, संयुक्त निदेशक जिला उद्योग केंद्र रोहताश सिंह, बीडीपीओ परमेंद्र सिंह, कार्यकारी अभियंता सिंचाई अजेंद्र सुहाग, डिप्टी सिविल सर्जन डा. विनय सिंह, सचिव नगर परिषद बहादुरगढ़ मुकेश कुमार, सचिव नप झज्जर नरेंद्र सैनी, सचिव नप बेरी संजय कुमार सहित संबंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *